शुक्रवार, 30 जून 2017

तुमने क्या - क्या किया है !!!

कभी ये कहना
कि तुमने ये नहीँ किया से
ज़्यादा ग़ौर यदि
इस बात पर किया होता
कि तुमने क्या - क्या किया है
तो मन उत्साहित हो जाता
और जो रह गया है शेष
उसे पूरा करने में
जुट जाता जी-जान से 😊

9 टिप्‍पणियां:

  1. सही कहा है ... इंसान कमियाँ ही ढूँढता है ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. सच .... खुद के व्यवहार और सोच से आगाह करवाती पंक्तियाँ ... सुंदर

    उत्तर देंहटाएं
  3. सकारात्मक प्रयास हो तो कदम सकारात्मक उठते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  4. सटीक ... नकारात्मकता से मन उदास हो जाता है .

    उत्तर देंहटाएं
  5. बढ़िया अभिव्यक्ति ,
    हिन्दी ब्लॉगिंग में आपका योगदान सराहनीय है , आप लिख रहे हैं क्योंकि आपके पास भावनाएं और मजबूत अभिव्यक्ति है , इस आत्म अभिव्यक्ति से जो संतुष्टि मिलेगी वह सैकड़ों तालियों से अधिक होगी !
    मानते हैं न ?
    मंगलकामनाएं आपको !
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत साधारण सी बात मगर गहन निरीक्षण!! कमाल की बात!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. छोटी सी बात पे ख़ुश होना मुझे आता था
    पर बड़ी बात पे चुप रहना तुम्ही से सीखा।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सार्थक अभिव्यक्ति...

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....